मोदी / योगी होश में आओ, बहुजन समाज से मत टकराओ :आर एस गौतम वरिष्ठ अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट


नई दिल्ली: देश या प्रदेशों में सरकार चलाना आपके बस में नहीं है इस्तीफा दो, इस्तीफा दो ।
ऑल इंडिया बहुजन एकता मंच तथा बहुजन बार एसोसिएशन ऑफ इंडिया की तरफ से अधिवक्ता आर.एस.गौतम ने देश की संसद में सुरक्षित सीटों से चुनकर आए हुए 131 एस.सी, एस.टी सांसदों से ललकार होते हुए कहा कि थोड़ी शर्म करें, राजनीतिक आरक्षण के पीछे बाबा साहेब ने जो संविधान में व्यवस्था की है उसका उद्देश्य यह था कि यह रिजर्व कोटे से चुनकर जाने वाले विधायक व सांसद एस.सी, एस.टी, ओ.बी.सी. समाज का प्रतिनिधित्व करेंगे लेकिन आज 73 साल बाद यह सिद्ध हो गया कि देश के समस्त एस.सी, एस.टी समाज के स्वाभिमान, गौरव गरिमा व उनके अस्तित्व को तथा उनके संवैधानिक अधिकारों को समाप्त कराने में इन्हीं 131 सांसदों का हाथ है और यदि यह बीजेपी से अलग हो जाएं तो सरकार एक मिनट में धराशाई हो सकती है देश का बहुजन अब मूर्ख नहीं रहा है सब कुछ समझता है यूपी के मुख्यमंत्री मि. योगी ने जातिवाद के आधार पर सत्ता का दुरुपयोग करते हुए उत्तर प्रदेश में ठाकुरवाद स्थापित कर दिया है 50% से ज्यादा जिलों में उत्तर प्रदेश के अंदर ठाकुर ही डीएम, ठाकुर एसपी, ठाकुर एस.एस.पी, ठाकुर थाना-अध्यक्ष तथा सारे उच्च पदों पर ठाकुरों को ही स्थापित कर दिया है तथा उत्तर प्रदेश के समस्त ठाकुर जाति के लोगों को छूट दे दी है किसी के साथ बलात्कार करो, अत्याचार करो, किसी की जमीन पर कब्जा करो, किसी के घर में आग लगा दो कुछ भी नहीं होगा, क्योंकि योगी जी लखनऊ में बैठे हैं यह बातें मैं नहीं आम आदमी पार्टी के माननीय सांसद संजय सिंह कई बार संज्ञान में ला चुके हैं और इसीलिए उनके खिलाफ योगी जी ने कई थानों में झूठे केस दर्ज करा दिए हैं लेकिन श्री संजय सिंह एक मानवतावादी, समतावादी, महान-व्यक्तित्व हैं जातिवादी ठाकुर नहीं है इसलिए सारा समाज एस.सी, एस.टी , ओबीसी व माइनॉरिटी सभी उनका सम्मान करते हैं।

Advertisement

लेकिन वही बी.जे.पी सांसद राजवीर दिलेर ठाकुरों के घर पर जाकर जमीन पर बैठ कर कुल्लड़ में चाय पीते हैं और ठाकुर उनकी बगल में कुर्सी पर बैठे नजर आते हैं इसी तरह बी.जे.पी मंत्री रामदास आठवले कंगना रनौत से मिलने जाते हैं क्योंकि वह ठाकुर है लेकिन हाथरस व बलरामपुर की दलित समाज की वीरांगनाओं से मिलने नहीं जाते जबकि उनके साथ बलात्कार होने के बाद उन्हें मौत के घाट उतार दिया जाता है तथा हाथरस का डी.एम इस घ्रणित कार्य में अपराधियों का खुलकर साथ देता है और पीड़ित परिवार को धमकाता है यहां तक कि पीड़ित परिवार को धमका कर बयान बदलने के लिए मज़बूर करता है और उसके खिलाफ अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है ऐसी दशा में देश का बहुजन समाज मांग करता है कि उत्तर प्रदेश सरकार को तुरंत बर्खास्त किया जाए राष्ट्रपति शासन लागू किया जाए तथा तुरंत चुनाव कराने की घोषणा की जाए यदि प्रधानमंत्री मि. मोदी अब देश को चलाने में असमर्थ हो गए हैं तो देश के लोग उनसे भी पुकार करते हैं कि इस्तीफा दे दें, देश में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो मोदी सरकार द्वारा देश की खोई हुई प्रतिष्ठा को वापस ला सकते हैं और सारे विश्व में भारत का नाम रोशन कर सकते हैं फिर भी यदि ऐसा नहीं होता तो हम सब सामाजिक संगठन कर्ता एक होकर देश में राष्ट्रव्यापी आंदोलन प्रारंभ कर चुके हैं और यह तब तक चलता रहेगा जब तक देश की जनता को न्याय नहीं मिल जाता, इस संदर्भ में दिनांक 11-10-2020 को अंबेडकर भवन दिल्ली में एक मीटिंग बुलाई गई है तथा उसके बाद 20-10-2020 को देश के विद्वान अधिवक्ताओं व आम नागरिकों की तरफ से एक प्रोटेस्ट मार्च होगा, जो सुप्रीम कोर्ट से चलकर जंतर मंतर करीब 1:00 बजे पहुंचेगा उसके बाद भारत सरकार को एक मेमोरेंडम दिया जाएगा और उसे यथा-शीघ्र पूरा कराने हेतु सरकार से निवेदन किया जाएगा देश के बहुजनों की आवाज को दबाने हेतु शासन-प्रशासन पूरा जोर लगा रहा है लेकिन हम सब अन्याय के खिलाफ मिलकर लड़ रहे हैं अतः आप सभी बहुजनों से निवेदन है कि दिनांक 11-10- 2020 को डॉक्टर अंबेडकर भवन, रानी झांसी रोड, दिल्ली पहुंचने का कष्ट करे।

Report Tiger post news

Advertisement

One thought on “हाथरस गैंगरेप:बहुजन एकता मंच करेगी योगी मोदी के खिलाफ आवाज बुलंद”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *