Clone सोर्स कोड पर काम कराना क्या वाकई इतना खतरनाक है?

सोर्स कोड क्या है.

जब कभी मार्केट में कोई नया App लॉन्च होता है। एप डेवलपर पर 4_5 महीनों की कड़ी मेहनत के बाद उस ऐप का source कोड जनरेट करता है।ताकि वह अपने आप को राइट कॉपी फ्री एप डेवलपर कर सके।

मोबाइल एप डेवलपर अपने क्लाइंट की रिक्वायरमेंट के आधार पर एक खूबसूरत ऐप बिल्ड करता है और client के आधार पर उसमें फीचर को अपलोड करता है।
भारत के साथ चीन की तनातनी के कारण भारत सरकार ने चीन के सारे मोबाइल ऐप को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया है। इसके चलते भारतीय बाजार में चीन के द्वारा प्रतिबंध एप की तरह नया बनाने की होड़ मची है। ताकि भारतीय लोग भी मोबाइल ऐप के क्षेत्र में दुनिया भर से आगे निकल सके। भारतीयों की नासमझी के कारण लगाता व्हाट्सएप क्लोन एप बनाने की कोशिश करें। जो पूरी तरह गैरकानूनी और अवैध है।
भारतीयों के साथ-साथ दुनिया भर के लोग जिन सोर्स कोड के माध्यम से एक बिजनेस करने की सोच रहे हैं। पूरी तरह मूर्खता का और नासमझी का परिचय दे रहे हैं।

Advertisement

जिन सोर्स कोड के सहारे भारतीय या अन्य देशों के लोग बहुत बड़ा सपना देख रहे हैं वह कभी पूरा नहीं हो सकता।

एक बड़ा कारण यह है कि आप किसी के क्लोन एप के द्वारा अपने आप को बनाने की कोशिश कर रहे हैं। जिसमें 100% राइट काफी issue आता है। लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं है कि उनके द्वारा प्रयोग किया गया सुरक्षित है या नहीं।

आपको यहां बताते चलें किसी भी ऐप बनाने को कम से कम एक लाख से ₹400000 खर्च होते हैं। तब जाकर एक सुरक्षित एप डेवलपर हो पाता है लेकिन लोगों होने को निभाओ के चक्कर में लगातार क्लोन एप के द्वारा अपना ऐप बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

Advertisement

क्लोन एप के फायदे और नुकसान

दरअसल आप जिस सोर्स कोड के माध्यम से बना रहे या बनाने की सोच रहे हैं ऐसा करके आप पछताने के सिवा कोई काम नहीं करता क्योंकि क्लोन एप को आप इस्तेमाल कर रहे हैं उसमें हंड्रेड परसेंट राइट काफी आता है. अगर आप तो कोर्ट के द्वारा ऐप बनवाने की कोशिश कर रहे हैं तो आप का सारा पैसा बर्बाद होना तय है. आप किसी कीमत पर कोई व्यापार नहीं कर सकते. एप डेवलपर तो आपसे एप डेवलपमेंट करने या फिर कस्टमर करने का पूरा पैसा वसूल लेगा. कुछ समय के बाद उसमें राइट काफी issues आना शुरू हो जाना. आपको पछताने के सिवा कोई काम नहीं होगा.

Advertisement

आप अगर एक एप डेवलपमेंट कराना चाहते तो इसके लिए आप एक ही जगह 10 व्यक्ति पार्टनरशिप करके अपने आप को डेवलपमेंट कर सकते हैं.
ऐसा करके आप अपना समय और पैसा दोनों ही बचा सकते हैं.

निष्कर्ष

हमने आपको अपनी लेख के माध्यम से सोर्स कोड से जुड़ी बेहतर से बेहतर जानकारी देने की कोशिश की है। और लगातार क्लोनएप से बचने की सलाह दी है। अब आपको इस लेख को पढ़कर तय करना है कि आपको क्लोन एप से ऐप बनवाना है या फिर उसे पूरी तरह बिल्ड कराना है आपकी जिम्मेदारी है कि आप सबको यह सोर्स कोड की सही जानकारी दें। ताकि किसी भी व्यक्ति का पैसा और समय बर्बाद ना हो।

Advertisement

One thought on “Clone सोर्स कोड पर काम कराना क्या वाकई इतना खतरनाक है?”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *